राष्ट्रीय

ऐक्शन में योगी सरकारः DM- SSP को किसान धरना खत्म कराने का ऑर्डर

योगी आदित्यनाथ सरकार के आदेश के बाद से गाजीपुर में बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों का जमावड़ा देखा जा रहा है।

नई दिल्ली। देश की राजधानी दिल्ली में ट्रैक्टर रैली (Tractor Rally) के दौरान हुई हिंसा हिंसा को देखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश के सभी DM और SSP को आदेस दिया है कि प्रदेश से किसानों का धरना खत्म कराने का आदेश दिया है।

लगभग दो महीने से किसान आंदोलन का केंद्र बना गाजीपुर उत्तर प्रदेश में ही आता है। किसान संगठन के प्रवक्ता राकेश टिकैत यही से आंदोलन का संचालन करते है। योगी आदित्यनाथ सरकार के आदेश के बाद से गाजीपुर में बड़ी संख्या में सुरक्षा बलों का जमावड़ा देखा जा रहा है।

किसी भी वक्त हो सकती है टिकैती की गिरफ्तारी

पुलिस की यहां बढ़ती गतिविधि को देख ऐसा लगने लगा कि भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत की गिरफ्तारी किसी भी वक्त हो सकती है। मालूम हो कि ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा के मामले में टिकैत के खिलाफ पुलिस एफआईआर दर्ज कर चुकी है, ऐसे में किसी भी वक्त टिकैत की गिरफ्तारी हो सकती है।

सरकार कर रही है डर फैलाने की कोशिश- टिकैत

धरना स्थल पर अचानक पुलिस बलों की संख्या में बढोतरी और बिजली काटने की घटना को राकेश टिकैत ने महज डर फैलाने की कोशिश करार दिया। उन्होंने अपने एक बयान में कहा कि प्रदर्शनकारी किसानों की बिजली काट दी गई है। उन्होंने कहा कि सरकार को डराना बंद करना चाहिए। उन्होंने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि वे इस तरह की कार्रवाई से दहशत फैलाने की कोशिश कर रहे हैं।

एनओसी नेताओं के खिलाफ नामजद एफआईआर

बतें दें कि दिल्ली में 26 जनवरी के दिन किसान ट्रैक्टर रैली के दौरान हुई हिंसा में गृह मंत्रालय अब तक कार्रवाई करने के निर्देश दे चुका है जिसके बाद दिल्ली पुलिस एक्शन मोड में आ गई है। पुलिस ने ट्रैक्टर परेड के लिए अनापत्ति प्रमाण पत्र (NOC) पर साइन करने वाले सभी नेताओं के खिलाफ नामजद एफआईआर दर्ज की है।

इन नेताओं के नाम हैं शामिल

जिन किसान नेताओं के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है उनमें हरपाल सिंह बूटा, दर्शन पाल, राकेश टिकैत, योगेंद्र यादव, वीएम सिंह, विजेंद्र सिंह, विनोद कुमार, राजेंद्र सिंह, बलवीर सिंह राजेवाल, जगतार बाजवा, जोगिंदर सिंह उगराहां और मेघा पाटेकर मुख्य रूप से हैं।

दिल्ली पुलिस ने दर्शन पाल को भी किया नोटिस जारी

देर रात दिल्ली पुलिस ने दर्शन पाल को नोटिस जारी कर कहा कि हिंसा को लेकर क्यों ना आप के खिलाफ कार्रवाई की जाए। दिल्ली पुलिस आयुक्त एसएन श्रीवास्तव ने बुधवार को कहा कि एक सुनियोजित साजिश के तहत किसान नेताओं ने भड़काऊ भाषण देकर लोगों को उकसाया और प्लानिंग के तहत राजधानी में हिंसा करवाई।

200 से ज्यादा लोग हिरासत में

लाल किले पर झंडा फहराना भी नेताओं की साजिश का हिस्सा था। इसी संबंध में दिल्ली पुलिस ने लूट, हत्या, डकैती, जान से मारने की कोशिश और सरकारी संपत्ति को नुकसान पहुंचाने के मामले में 35 एफ आई आर दर्ज की है। जिनमें 72 लोगों को अब तक नामजद किया गया है। इनमें से 23 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। जबकि 200 से ज्यादा लोग हिरासत में लिए गए हैं।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button