डिप्रेशन के शिकार आप भी हो सकते हैं

छत्‍तीसगढ़ में सरगुजा जिले के मुख्‍यालय अंबिकापुर स्थित मेडिकल कॉलेज अस्पताल में चिरायु योजना के तहत संचालित जिला शीघ्र हस्तक्षेप केंद्र में आए मरीजों के आंकड़े हैरान करने वाले हैं. यहां इलाज के लिए संभागभर से ऐसे 1700 मरीज पहुंच चुके हैं जो डिप्रेशन के शिकार हैं. बीमारी की वजह भी चौंकाने वाली है. ये सभी लोग इंटरनेट और मोबाइल के अधिक उपयोग की वजह से बीमार हुए हैं.

इंटरनेट और मोबाइल या स्मार्ट फोन आज हमारी जिन्दगी का अहम हिस्सा बन चुका है. हर क्षेत्र में इंटरनेट मोबाइल के जरिये क्रान्ति आ चुकी है. लेकिन इसका अधिक उपयोग लोगों को बीमार भी बना रहा है. अंबिकापुर मेडिकल कॉलेज अस्पताल में पदस्थ मनोवैज्ञानिक माधुरी मिंज का कहना है कि मोबाइल व इंटरनेट का अधिक प्रयोग युवा पीढ़ी को कई प्रकार के डिप्रेशन का शिकार बना रहा है.

Back to top button