छत्तीसगढ़

यंग आर्म्स ने प्रतिभागियो को दिया सिंगिंग के बेसिक टिप्स

यंग आर्म्स फाउंडेशन के द्वारा 17 मई 2019 शुक्रवार को कॉर्पोरेट सेंटर रायपुर में “बेसिक आफ सिंगिंग” पर एक ट्रेनिंग प्रोग्राम आयोजित करवाया गया, जिसमे लगभग 40 – 50 लोगो ने भाग लिया था। इस ट्रेनिंग के ट्रेनर नविन अग्रवाल थे। जिन्होंने थेओरिटीवाल एवं प्रैक्टिकल नॉलेज दे कर प्रतिभागियो को संगीत सिखाया। उन्होंने प्रतिभागियों को गीत गा कर उन्हें सुर और ताल कैसे और कहां लगाना चाहिए, को विस्तार से बताया। बच्चो ने भी संगीत के प्रति रूचि दिखाई ।

इस ट्रेनिंग में नवीन अग्रवाल जी ने बताया कि भारतीय संगीत पद्धति में हारमोनियम के काली रीड और वेस्टर्न संगीत पद्धति में हारमोनियम के सफ़ेद रीड को मुख्य स्वर या आरंभिक स्वर माना जाता है और दोनों संगीत पद्धतियों में गाने को गाते समय सप्तक का ध्यान रखना होता है | उन्होंने यह भी बताया कि किसी भी गाने को गाते समय स्वर और ताल दोनों एक साथ चलते है इसलिए एक कुशल गायक को स्वर के साथ साथ ताल का भी ज्ञान होना आवश्यक है | गायक को रचनाकार के द्वारा रचित स्वर व उस पर लिखे शब्दों का उच्चारण सही ढंग से करना चाहिए, एक कुशल गायक को गाने में प्रयोग होने वाले सभी शब्दों का अर्थ पता होना चाहिए नहीं तो गाने में भाव नहीं होगा क्योकि अक्सर ये देखा गया है कि हिंदी गानो में उर्दू शब्दों का प्रयोग होता है |

इस ट्रेनिंग का संचालन यंग आर्म्स के सदस्य हेमंत यादव ने किया और नीलेश शाह ने प्रतिभागियों को यंग आर्म्स फाउंडेशन के बारे में बताया इस प्रोग्राम में यंग आर्म्स के मेंबर्स पुरुषोत्तम मिश्रा , लक्ष्य चौरे , लक्ष्य पारख , अंकित बंसल आदि भी शामिल थे | लोगो ने इस ट्रेनिंग के प्रति अपना उत्साह जताते हुए ट्रेनिंग की बहुत प्रशंसा की। ट्रेनर को भी काफी उत्साहना मिली। आने वाले समय में इस तरह के और प्रोग्राम यंग आर्म्स फाउंडेशन के द्वारा और आयोजित किये जायेंगे |

Tags
Back to top button