Uncategorizedछत्तीसगढ़

पारम्परिक खेलों को बढ़ावा देने युवा आयोग देगा हर संभव सहयोग : भंजदेव

रायपुर । पारम्परिक खेलों को बढ़ावा देने युवा आयोग हर संभव सहयोग देगा। मंगलवार को ये बातें युवा आयोग के अध्यक्ष और बस्तर के महाराज कमल चंद्र भंजदेव ने अपने सम्बोधन में कही । उन्होंने युवाओं को भरोसा दिलाया जल्दी ही पुराने खेलों के भी दिन बहुरने वाले हैं ।
दरअसल विलुप्त होते पारम्परिक लोक खेलों को बढ़ावा देने लोक खेल प्रतिस्पर्धा कवर्धा में 23 और 24 अक्टूबर को हुई। इसमें 10 लोक खेलों में स्थानीय युवाओं, स्कूली बच्चों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। 24 अक्टूबर को कार्यक्रम समापन पर मुख्य अतिथि युवा आयोग अध्यक्ष और बस्तर के महाराज कमल चन्द्र भंजदेव, जनपद पंचायत अध्यक्ष खडग़ राज सिंह के अलावा भाजपा पदाधिकारी, स्कुल शिक्षक और स्थानीय लोग शामिल हुए। कार्यक्रम में खिलाडिय़ों के उत्साहवर्धन के लिए आयोग अध्यक्ष ने प्रमाण पत्र एवं पुरस्कार प्रदान किया।
00 क्यों है पारम्परिक खेलों की जरूरत :
आयोग अध्यक्ष श्रीमंत भंजदेव ने कहा कि पारम्परिक लोक खेल वर्षों से खेले जा रहे हैं। इसमें खास खेल उपकरणों, नियमों, मैदान की आवश्यकता नहीं होती है। स्वस्थ मनोरंजन और मानसिक विकास के ये खेल आधुनिक जीवनशैली में विलुप्त होती जा रही है। आजकल के बच्चों को हमारे लोक खेलों की जानकारी तक नहीं हैं, यह दु:ख की बात है। आयोग अध्यक्ष बनने के बाद मैंने इस तरफ ध्यान दिया और लोक खेलों को बढ़ावा देने के लिए प्रदेशभर में इस तरह का आयोजन किया जा रहा है।
श्रीमंत भंजदेव ने कहा कि आज हमारी परंपरा से जुड़े इन खेलों को बढ़ावा देने के लिए हम सभी को संकल्प लेने की आवश्यकता है। युवा आयोग इस तरह के आयोजन पर हर संभव सहयोग करने के लिए तैयार है, बस जरूरत इन खेलों की महत्ता को समझने की है। आप लोग कबड्डी लीग जैसे खेल का आयोजन करें, मैं इसमें हर तरह का मदद देने के लिए तैयार हूं। कबड्डी लीग का फाइनल रायपुर में किया जाएगा, जिसमें मुख्यमंत्री को आमंत्रित करके खिलाडियों को पुरस्कृत किया जाएगा।
00 गेड़ी का लिया आनंद
कार्यक्रम समापन के पूर्व आयोग अध्यक्ष में गेड़ी फुटबाल मैच का आनंद लिया। इस आयोजन में गेड़ी के माध्यम से खिलाडिय़ों ने फुटबाल खेलकर उपस्थित जनसमूह को हैरत में हैरत में डाल दिया।

advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.