खेल

एशिया कप में हिस्सा लेने के लिए युवा निशानेबाज को लाइसेंस का इंतजार

चंडीगढ़ः हरियाणा की एक युवा निशानेबाज सितंबर में इंडोनेशिया में होने वाले युवा एशिया कप में हिस्सा लेने के लिए जर्मनी से समय पर बंदूक मंगाने के लिए लाइसेंस हासिल करने के लिए जूझ रही है। झज्जर की 15 साल की लड़की मनु भाकर ने दावा किया है कि बंदूक के लाइसेंस के लिए उसने सभी जरूरी औपचारिकताएं पूरी कर ली हैं। मनु के पिता रामकिशन ने फोन पर बताया कि मेरी बेटी को इंडोनेशिया में इस साल सितंबर में होने वाली युवा एशियाई चैंपियनशिप के लिए जूनियर राष्ट्रीय टीम में चुना गया है। वह दो स्पर्धाओं में अंडर 19 वर्ग में हिस्सा लेगी।

उन्होंने कहा कि से 10 मीटर वर्ग के लिए लाइसेंस की जरूरत नहीं है। लेकिन 25 मीटर वर्ग में हिस्सा लेने के लिए उसने अपनी पिस्टल की जरूरत है और स्पोट्र्स पिस्टल के लिए लाइसेंस की जरूरत है। रामकिशन ने दावा किया कि उन्होंने मई में लाइसेंस के लिए आवेदन किया था और फाइल अब उपायुक्त कार्यालय में है जो ट्रेनिंग कार्यक्रम के लिए गए हुए हैं। रामकिशन ने बताया कि झज्जर के पुलिस अधीक्षक के कार्यालय ने अपनी सिफारिश और जरूरी स्वीकृति 27-28 जून को दे दी थी और तब से फाइल उपायुक्त कार्यालय में है।

उन्होंने बताया कि 10वीं में पढऩे वाली उनकी बेटी को जर्मनी से किराने पर बंदूक मंगानी होगी और इस प्रक्रिया में छह से सात हफ्ते लगेंगे और यह प्रक्रिया लाइसेंस मिलने के बाद ही शुरू होगी। इस बीच पता चला है कि झज्जर के पुलिस उपायुक्त 11 अगस्त तक ट्रेनिंग कार्यक्रम के लिए गए हैं। झज्जर की अतिरिक्त उपायुक्त आमना तसनीम ने कहा कि वह पिछले हफ्ते ही इस पद पर आयी हैं और अभी अभी यह मामला उनके संज्ञान में आया है। तसनीम ने कहा कि मैं इसे देखूंगी और प्रक्रिया में तेजी लाउंगी।

Tags
Back to top button