आपका मोबाइल फोन आपको कर सकता है बीमार,रिसर्च में खुलासा

35 फीसदी लोगों ने कभी स्मार्टफोन साफ नहीं किया

नई दिल्लीः एक रिसर्च में पता चला है कि आपका मोबाइल फोन टॉयलेट सीट से 3 गुना ज्यादा गंदा है। इसका दावा इंश्योरेंस टूगो के रिसर्च रिपोर्ट में पता चला है।

इस रिसर्च के मुताबिक हमारे मोबाइल पर कई प्रकार के कीटाणु रहते हैं, जिसमें 12 तरह के बैक्टीरिया हैं। टॉयलेट और फ्लश पर 24 यूनिट कीटाणु मिलते हैं जबकि मोबाइल पर 85 यूनिट कीटाणु मिले हैं।

रिसर्च से ये भी पता चला है कि 35 फीसदी लोगों ने कभी स्मार्टफोन साफ नहीं किया है।

फोन स्क्रीन साफ नहीं करने से फैलते कीटाणु

आपका फोन पसीना लगने से गंदा हो जाता है। रेस्टरूम, जिम में फोन यूज करने से इसमें बैक्टीरिया आते हैं। जानवरों के खेलने से भी इसमें कीटाणु ट्रांसफर होते हैं। सार्वजनिक गाड़ियों में फोन के इस्‍तेमाल और दूसरे लोगों के इस्‍तेमाल से फोन गंदा होता है।

रिसर्च के मुताबिक पसीने और मैल से फोन पर बैक्टीरिया पनपते हैं। मोबाइल साफ नहीं करने से बैक्टीरिया फैलता है। समय दर समय से कीटाणु मोबाइल पर बैठते हैं। फोन स्क्रीन साफ नहीं करने से कीटाणु फैलते हैं।

क्लीनिंग किट से करें मोबाइल साफ

बैक्टीरिया फ्री मोबाइल के लिए मोबाइल को आसानी से साफ करें। मोबाइल साफ करने के लिए माइक्रो फाइबर क्लॉथ का इस्तेमाल करें। क्लीनिंग किट से भी मोबाइल साफ किया जा सकता है। सफाई के वक्त लिक्विड का इस्तेमाल ना करें।

हेयर ड्रायर से भी मोबाइल साफ ना करें। खाना खाते समय कभी भी फोन का इस्तेमाल न करें। मोबाइल को टॉयलेट में न ले जाएं। फोन की सफाई के लिए सेनिटाइजर का इस्तेमाल ना करें। लिक्विड से साफ कर रहे हैं तो फोन पूरी तरह सुखाएं। मोबाइल साफ करने से पहले उसे ऑफ कर दें।

Back to top button