बिजली विभाग की प्रताड़ना के चलते फांसी लगाकर युवक ने की खुदकुशी

युवक ने पीएम मोदी के नाम सात पन्नों का सुसाइड नोट भी लिखा

छतरपुर:छतरपुर में एक युवक ने पेड़ से लटक कर आत्महत्या कर ली. बताया जा रहा है कि उस पर बिजली विभाग का 80 हजार रुपये बकाया था. लॉकडाउन की वजह से उसकी आर्थिक स्थिति खराब हो गई थी. जिसकी वजह से वो बिल नहीं चुका नहीं पा रहा था. इसके लिए बिजली विभाग के कर्मचारियों ने उसे गांव वालों के सामने बेइज्जत किया और इससे आहत होकर उसने आत्महत्या कर ली.

युवक ने पीएम मोदी के नाम सात पन्नों का सुसाइड नोट भी लिखा है. जिसमें उसने कहा कि मैं आपकी सरकार से संतुष्ट हूं. लेकिन आपके निचले स्तर पर काम करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों से खुश नहीं हूं.

बिजली विभाग का मुझे करीब 80 हजार रुपये बकाया बिल का देना है. लॉकडाउन और पारिवारिक स्थिति ठीक न होने की वजह से बिल नहीं दे पाया. फिर बिजली विभाग के कर्मचारी आये और मेरी चक्की, मोटर और मोटरसाइकिल उठाकर ले गये.

इतना ही नहीं गांव के लोगों के सामने मुझे खूब बेइज्जत भी किया. ये प्रताड़ना मैं बर्दाश्त नहीं कर पाया और आत्महत्या कर रहा हूं. मेरी मौत के बाद मेरा शरीर अधिकारियों को दे देना जिससे वो शव के टुकड़े- टुकड़े बेचकर अपना पैसा वसूल कर लें.

बिजली का बिल न चुकाने के चलते युवक ने किया सुसाइड सुसाइड नोट पढ़ने के बाद पुलिस भी सकते में है और जांच में जुट गई है. पुलिस का कहना है कि मुनेंद्र राजपूत ने अपने खेत के पेड़ पर फांसी लगाकर खुदकुशी की है. शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

एसपी छतरपुर सचिन शर्मा ने बताया कि मृतक के परिजनों ने आरोप लगाया है कि बिजली विभाग ने अपने बकाया की वसूली के लिये उसके भाई को गांव में खूब प्रताड़ित किया और उसकी बेज्जती की, जिसकी वजह से उसका भाई सदमे था और उसने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी.

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button