छत्तीसगढ़

अवैध प्लाटिंग मामले को लेकर युवक कांग्रेसियों ने कलेक्टर से की शिकायत

मुंगेली में अवैध प्लाटिंग का गोरखधंधा

ब्यूरो चीफ : विपुल मिश्रा

जिला बनने के बाद मुंगेली में अवैध प्लाटिंग का गोरखधंधा खूब फल फूल रहा है। यही वजह है कि कॉलोनाइजर अब भोलेभाले किसानों की जमीन को भी प्लाटिंग करके बेचने से गुरेज नही कर रहे हैं। इस मसले को लेकर अब युवक कांग्रेसियो ने अवैध कॉलोनाइजरों के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। जिला कलेक्टर से शिकायत कर उन्होंने कार्रवाई की मांग की है।

मुंगेली क्षेत्र में जितने भी कॉलोनाइजर प्लाट बेच रहे हैं वे टाउन एंड कंट्री प्लानिंग के नियमों का पालन नहीं कर रहे है, जिससे सरकार को राजस्व की हानि हो रही है। जिम्मेदार अधिकारी सब कुछ जानकर भी अनजान बने बैठे है। कांग्रेसियों ने जिला प्रशासन से शिकायत में यह भी कहा है कि मुंगेली जिले के चारों दिशाओं में अवैध प्लाटिंग और नियम विरुद्ध कॉलोनीयों का निर्माण किया जा रहा है। ऐसे लोगों के खिलाफ कोई ठोस कार्रवाई नहीं हुई है।

कॉलोनाइजर आम जनता को घर का सपना दिखाकर प्लाट बेच देता है ग्राहक भी जानकारी के अभाव में अवैध कॉलोनाइजरो के झांसे मे फंस जाते है। जिन्हें बाद में पानी, बिजली,सड़क और नाली जैसी मूलभूत सुविधाओं के लिए तरसना पड़ता है। शिकायती पत्र में कहा गया है कि कलेक्टर निवास के पास बने भारत माता कॉलोनी, पृथ्वी ग्रीन कॉलोनी और सोनकर सिटी कॉलोनी सहित सचिपुरम कालोनी जो कि कॉलोनी के रूप में विकसित जरूर किया गया है पर इन कालोनियों में ग्राहकों को जिन सुविधाओं का जिक्र प्लॉट्स बेचते वक्त किया गया था उसके लिए आज भी यहां के रहवासी तरस रहे हैं।

इस पूरे प्रकरण पर मुंगेली के अपर कलेक्टर राजेश नशीने ने कांग्रेसियों को कार्यवाही का भरोसा दिलाया है। शिकायतकर्ता कांग्रेसियो ने मांग की है कि कॉलोनाइजरो का वेरिफिकेशन कराया जाए। जिससे अवैध प्लाटिंग एवं अवैध कॉलोनी विकसित करने वालों के खिलाफ़ कार्यवाई हो सके।

Tags

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Back to top button