थाना परिसर में मिला युवक का शव, पुलिस ने आत्महत्या ठहराई

परिजनों ने पुलिस पर दूसरे पक्ष से मिलकर हत्या करने का आरोप लगाया

बांदा|

उत्तर प्रदेश में बांदा जिले के तिंदवारी थाना परिसर में बने होमगार्ड आवास के कमरे में शनिवार देर शाम पुलिस को एक युवक का शव फांसी के फंदे पर लटकता हुआ मिला है। मृत युवक के पिता ने पुलिस पर दूसरे पक्ष से मिलकर हत्या करने का आरोप लगाया है। पुलिस इसे आत्महत्या बता रही है। अपर पुलिस अधीक्षक (एएसपी) लाल भरत कुमार पाल ने रविवार को बताया कि दो-तीन पहले अमली कौर गांव भगदरा डेरा में बबलू सिंह (37) और निषाद बिरादरी के बीच बिजली टांसफॉर्मर में कटिया लगाने को लेकर मारपीट और पत्थरबाजी की घटना हुई थी। दोनों पक्षों ने एक-दूसरे के खिलाफ एनसीआर दर्ज कराया था।

इसी मामले में सुलह-समझौते के लिए पुलिस दोनों पक्षों को शनिवार की शाम थाने बुलाया था। करीब सात बजे शाम को बबलू सिंह सिपाहियों की नजर बचा कर होमगार्डो के आवास के लिए बने कमरे में चला गया और वहां अपने गमछे से फांसी लगा ली।

उन्होंने बताया, “जैसे ही सिपाहियों ने उसे फांसी के फंदे में लटकते देखा उसे तुरंत उतार कर तिंदवारी के सरकारी अस्पताल ले गए जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया।”

उन्होंने बताया कि दूसरे पक्ष के पांच लोगों के खिलाफ इस घटना में मुकदमा दर्ज किया गया है और पुलिस की संदिग्ध भूमिका की जांच के लिए अलग से आदेश दिए गए हैं।

आरोपियों के नाम पूछने पर एएसपी ने कहा, “अभी वह मृत युवक के अंतिम संस्कार में उसके परिजनों के साथ हैं। बाद विस्तृत जानकारी देंगे।”

थाने में युवक द्वारा कथित तौर पर आत्महत्या कर लिए जाने की सूचना पर शनिवार को ग्रामीणों का हुजूम थाने पहुंच गया और देर शाम तक थाने का घेराव कर हंगामा करते रहे। बाद में प्रभारी जिलाधिकारी संतोष बहादुर सिंह व एसपी एस आनंद द्वारा कार्रवाई के आश्वासन पर हंगामा शांत हुआ।

वहीं, युवक के पिता रामआसरे सिंह ने आरोप लगाया कि विवाद के बाद से ही पुलिस बेटे को हिरासत में रखे थी और दूसरे पक्ष से मिलकर उसे प्रताड़ित व मारपीट करती रही है। मौत के बाद पुलिस ने आत्महत्या का रूप देने के लिए शव को फांसी पर लटकाया है। पुलिस ने हालांकि मारपीट की बात से इनकार किया है।

Tags
Back to top button