शिक्षा के व्यवसायीकरण के विरोध में युवासेना का जोरदार प्रदर्शन

6 सूत्रीय मांगो को लेकर जिलाशिक्षाधिकारी को ज्ञापन सौंपा

रायपुर:शिवसेना की यूथ विंग युवा सेना ने शिक्षा के व्यवसायीकरण के विरोध में जिला शिक्षाधिकारी के कार्यालय में जोरदार प्रदर्शन किया .

6 सूत्रीय मांगो को लेकर युवासेना ने जिलाशिक्षाधिकारी को ज्ञापन सौंपा .उचित कार्यवाही नहीं होने की स्थिति में पार्टी ने उग्र आन्दोलन की चेतावनी दी है .

वहीँ आज सुबह बस ड्राइवर की लापरवाही से हुये स्कूल बस हादसे के मामले में भी प्रदर्शन की बात कही .युवा सेना के प्रदेश उपाध्यक्ष शशांक देशमुख ने कहा कि राजधानी में शिक्षा का व्यवसायीकरण चरम पर है .

समस्त प्राइवेट विद्यालयों में शुल्क वृद्दि कर मनमाना शुल्क वसूला जा रहा है .सरकार समस्त विद्यालयों में एक सामान फीस का मापदंड तय करें .उन्होंने कहा कि बच्चों के सिलेबस में बदलाव कर छात्रों को लूटा जा रहा है ,यदि सिलेबस में बदलाव नहीं किया जायेगा ,तो पुरानी पुस्तके जूनियर छात्रों के काम आ सकती है .

फीस वृद्धि के लिए शासन द्वारा जारी नियमानुसार 10 प्रतिशत फीस वृद्धि का आदेश दिया गया है लेकिन हर बड़े स्कूल में मनमानी फीस वृद्धि की जा रही है .

जिले में संचालित कोचिंग सेंटर छात्रों से मनमानी रकम वसूल रहे हैं ,इन पर लगाम लगायी जाए .इसके साथ ही स्कूलों में 25 प्रतिशत सीटें गरीब बच्चो के लिए आरक्षित है ,लेकिन नियम को पर रखा जा रहा है .

Back to top button