पुलिस, सूबेदार भर्ती मे आयु सीमा में छुट न देने पर युवाओं में आक्रोश

7 साल के बाद निकली भर्ती

कोरबा : सरकार युवाओं को हमेशा रोजगार देने की बात करती है लेकिन नियमो का हवाला देकर युवाओं के साथ सरकार छल करती आ रही है। युवा अपनी पूरी लगन से और पारिवारिक परिस्थितियों दयनीय होने के बावजूद भी मन मे सपने संजोए आगे बढ़ रहे और पढ़ाई कर रहे।

लेकिन सरकार ने जो पुलिस भर्ती, सूबेदार भर्ती में जो आयु सीमा निर्धारित की है उसको देखते हुए युवाओं में बेहद आक्रोश है क्योंकि सभी तैयारी कर रहे युवाओ का कहना है कि सरकार में आयु सीमा कम रखी इसको बढ़ाना चाहिए ताकि हम पढ़े लिखे और देश के लिए देखे सपने पूरे कर सके।

पुलिस, सूबेदार भर्ती जो कि सरकार ने पहले वर्ष 2011 में भर्ती वेकेंसी निकली थी उसके बाद सीधे 2018 में निकाली जबकि सभी युवा अपनी तैयारी में लगे हुए थे यदि भर्ती जल्दी निकली होती तो सभी को मौका मिलता लेकिन 7 साल के बाद भर्ती निकाली गई जिसमें युवाओं में आक्रोश है।

युवाओ की मांग है कि आयु सीमा 28 साल से बढ़ा कर 35 साल की जाए ताकि हम सभी युवाओं को अपनी प्रतिष्ठा दिखाने का मौका मिले। सरकार से निवेदन कर रहे युवा वर्ग ने कहा कि यदि सरकार हमारी बात नही सुनती है तो हम सब आंदोलन करने पर मजबूर होंगे।

एक तरफ सरकार नौकरी का दावा करती है और जब युवा वर्ग नौकरी के लिए तैयारी कर आगे बढ़ते है तो सरकार नियमों का हवाला देकर युवाओ के भविष्य के साथ खिलवाड़ भी कर रही।

Back to top button