टेक्नोलॉजी

यूट्यूब ने Delete किए 80 लाख वीडियोज… जाने वजह

नई दिल्ली: YouTube ने आतंकवाद और आक्रामक सामग्री दिखाने वाली 80 लाख वीडियोज़ को अपने प्लैटफोर्म से रिमूव कर दिया है। इन वीडियोज़ को यूट्यूब कम्युनिटी गाइडलाइन्स का उल्लंघन करने, आतंकवाद को बढ़ावा देने, बाल शोषण और नफरत भरे भाषण से भरपूर वीडियो दिखाने के चक्कर में डिलीट किया गया है। यूट्यूब ने 2018 की पहली तिमाही की रिपोर्ट जारी कर बताया है कि इनमें अडल्ट कन्टैंट दिखाने वाली वीडियोज़ भी शामिल थीं जिन्हें लोगों तक पहुंचने से पहले कार्रवाई कर रिमूव किया गया है।

1 View आने से पहले रिमूव की गई वीडियोज़

यूट्यूब ने रिपोर्ट में बताया है कि 80 लाख वीडियोज़ में से 76 प्रतिशत वीडियोज़ को 1 व्यू आने से पहले रिमूव किया गया है। इनमें हिंसक प्रदर्शन को बढ़ावा देने वाली वीडियोज़ भी शामिल थीं। जिन पर ध्यान देते हुए तत्काल कार्रवाई की गई है।

यूट्यूब कम्यूनिटी गाइडलाइन्स का उल्लंघन

कुल मिला कर यूट्यूब पर 9.3 मिलियन यानी 93 लाख वीडियोज़ हैं जो यूट्यूब कम्यूनिटी गाइडलाइन्स का उल्लंघन कर रही हैं। इनमें से सबसे ज्यादा वीडियोज़ का वॉल्यूम भारत में हैं। वहीं अमरीका दूसरे नम्बर पर व इसी तरह यूनाइटिड किंगडम छठें नम्बर पर है।

नियमित रूप से वीडियोज़ की जांच कर रही यूट्यूब

यूट्यूब ने रिपोर्ट में बताया है कि हम लगातार वीडियोज़ की जांच कर रहे हैं और नियम का उल्लंघन करने वाली वीडियोज़ को एक व्यू आने से भी पहले रिमूव करने की कोशिश में हैं। इस वर्ष के अंत तक हम अपने रिपोर्टिंग सिस्टम को और बेहतर बनाएंगे जिससे अक्रमक सामग्री वाली वीडियोज़ को और भी तेजी से रिमूव किया जा सकेगा।

इस कारण यूट्यूब को रिमूव करनी पड़ी वीडियोज़

आपको बता दें कि पिछले हफ्ते 300 कम्पनियों और संगठनों ने आपत्तिजनक कंटेंट के साथ उनकी ऐड्स के शो होने को लेकर यूट्यूब को रिपोर्ट किया था, जिनमें एडीडास, अमेजन और नैटफ्लिक्स आदि शामिल थीं। इसे ठीक करने के लिए यूट्यूब को ऑफसैंस कन्टैंट वाली वीडियोज़ को रिमूव करने की सलाह दी गई थी। जिसके बाद प्रैशर में आकर अब यूट्यूब को इन वीडियोज़ को रिमूव करना पड़ा है।

Tags
advt

प्रातिक्रिया दे

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा. आवश्यक फ़ील्ड चिह्नित हैं *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.