राष्ट्रीय

केंद्रीय मंत्री, जिन्होंने पान-गुटखे की पीक को हाथ से साफ करने में नहीं किया परहेज…

नई दिल्ली: स्वच्छता अभियान के तहत अक्सर सफाई की औपचारिकता निभाते हुए नेताओं की तस्वीरें देखने के मिल जाती हैं, लेकिन केंद्रीय पर्यटन मंत्री अलफोंस कन्नथानम ने बुधवार को जिस तरह से सफाई की उससे साफ हो गया कि वे दिखावा नहीं कर रहे थे बल्कि स्वप्रेरणा से सेवा कर रहे थे. पान-गुटखे की पीक से रंगी दीवारों को अपने हाथों से साफ करने में वे जरा भी नहीं हिचकिचाए.

पीएम नरेन्द्र मोदी ने ‘स्वच्छता ही सेवा’ का आह्वान किया है. स्वच्छता को सेवाभाव की तरह अपनाते हुए केंद्रीय पर्यटन मंत्री अलफोंस कन्नथानम ने बुधवार को पान और गुटखे की पीक से रंगी दीवारों को आज अपने हाथों से साफ किया.

उन्होंने मध्य दिल्ली के जनपथ मार्केट में स्वच्छता अभियान में भाग लिया. इस दौरान उन्होंने दीवारों को पहले पानी से साफ किया और फिर अपने हाथों में ‘डिटरजेंट’ लेकर साफ किया. इस दौरान उनके कर्मचारी उनके लिए एक ब्रश की व्यवस्था करने के लिए इधर-उधर भागते हुए नजर आए.

कन्नथानम, जो कि एक पूर्व आईएएस अधिकारी हैं, ने इशारा करते हुए कहा कि ‘‘एक स्क्रबर ला दो. ’’ इस पर किसी ने उन्हें प्लास्टिक के एक लंबे डंडे में लगा स्क्रबर दे दिया.

लेकिन मंत्री ने इसे लेने से इनकार कर दिया और हाथ से पकड़कर साफ करने लायक कोई चीज मांगी.

अधिकारी उनके मनमाफिक ‘स्क्रबर’ लाने के लिए इधर-उधर भागने लगे. इस दौरान मंत्री ने अपने हाथों में डिटरजेंट लिया और उसे दीवार पर रगड़ने लगे.

थोड़ी देर बाद किसी ने उन्हें हाथ में पकड़कर इस्तेमाल किया जाने वाला ‘स्क्रबर’ दिया, जिसका उन्होंने दीवार पर इस्तेमाल किया.

बाद में कन्नथानम ने वहां मौजूद लोगों से पूछा, ‘‘साफ हुआ नहीं ? ’’

पर्यटन मंत्री नीली टी शर्ट और जींस पहने हुए जनपथ मार्केट में सफाई करते रहे. हालांकि वहां सफाईकर्मी दस्ताने और मास्क पहने सड़कों पर कतार में खड़े थे.

मंत्री ने सड़क पर सूखे पत्ते, खाली डिब्बे और प्लास्टिक का कूड़ा जमा किया और फिर उन्हें एक कूड़ेदान में डाल दिया, जिसकी व्यवस्था उनके कर्मचारियों ने की थी.

कन्नथानम ने कहा, ‘‘भारत को स्वच्छ रखिए. हर नागरिक सड़क पर उतरिए, आस पड़ोस में जाइए और भारत को स्वच्छ बनाइए.

मुझे लगता है कि यह प्रधानमंत्री का सबसे बड़ा मिशन है. ’’ कन्नथानम ने जनपथ मार्केट में की गई सफाई का वीडियो फेसबुक पर साझा किया है.

Summary
Review Date
Reviewed Item
अलफोंस कन्नथानम
Author Rating
51star1star1star1star1star
Tags

Related Articles

Leave a Reply