जरदारी: शरीफ बंधुओं ने मुझे दो बार मारने की कोशिश की

शरीफ भाइयों पर भरोसा नहीं किया जा सकता. वह बहुत तेजी से रंग बदलते हैं. जब वह संकट में होते हैं तो आपके साथ सहयोग करने के लिए तैयार हो जाते हैं. और जब उनके पास सत्ता होती है तो वह आपको बड़ी चालाकी से नुकसान पहुंचाते हैं

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी ने यह कहकर सबको चौका दिया है कि अपदस्थ प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनके छोटे भाई शाहबाज शरीफ उन्हें मारना चाहते हैं.
जरदारी ने दावा किया कि शरीफ बंधुओं ने उन्हें मारने के लिए दो बार योजना बनाई थी.

जरदारी का कहना है कि शरीफ बंधुओं ने उनकी हत्या की योजना उस वक्त बनाई थी जब वह भ्रष्टाचार के मामलों में आठ साल की सजा काट रहे थे. उन्होंने कहा कि शरीफ बंधु उनकी हत्या तब करवाना चाहते थे जब वह सुनवाई के लिए अदालत जा रहे थे.
पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति शनिवार को लाहौर के बिलावल हाउस में पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) के कार्यकर्ताओं को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा, ‘पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और उनके छोटे भाई और पंजाब के मुख्यमंत्री शाहबाज शरीफ ने 1990 के दशक में मेरे जेल में रहने के दौरान दो बार मेरी हत्या की योजना बनाई थी.

जरदारी ने कहा कि समर्थन मांगने के लिए नवाज शरीफ उनसे संपर्क करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन ‘मैंने इनकार कर दिया.’ उन्होंने कहा, ‘मैं भूला नहीं हूं कि उन्होंने (शरीफ बंधुओं), बेनजीर भुट्टो और मेरे साथ क्या किया है. हमने उन्हें माफ कर दिया था और चार्टर ऑफ डेमोक्रेसी पर दस्तखत कर दिए थे, लेकिन इसके बावजूद मियां साहब (नवाज) ने मुझे धोखा दिया. वो मेमोगेट मामले में अदालत चले गए ताकि मुझ पर धोखेबाज होने का लेबल लगा सकें.

उन्होंने कहा, ‘शरीफ भाइयों पर इस बार भरोसा नहीं किया जा सकता और मैं उनसे हाथ नहीं मिलाउंगा.’ जरदारी ने कहा, ‘वह बहुत तेजी से रंग बदलते हैं. जब वह संकट में होते हैं तो वह आपके साथ सहयोग करने के लिए तैयार हो जाते हैं. और जब उनके पास सत्ता होती है तो वह आपको बड़ी चालाकी से नुकसान पहुंचाते हैं.’
जरदारी ने अपनी पार्टी के नेताओं को स्पष्ट किया कि अगले साल होने वाले चुनावों के बाद पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एन) से गठबंधन करने की बात वो भूल जाएं.

advt
Back to top button