छत्तीसगढ़

चुनाव में भारत भूमि प्रत्याशी का बयान, पढ़िए क्या कहा…

शंकर सिंह राठौर

बिल्हा:

बिल्हा विधानसभा क्षेत्र से भारत भूमि के प्रत्याशी के देव राम साहू ने विधानसभा चुनाव के विषय में क्लिपर 28 से चर्चा की। उन्होंने क्लिपर 28 से हुई बातचीत में पानी की समस्या को बताते हुए कहा कि विद्यालयों में हो रही पानी की समस्या के कारण पढ़ने वाले विद्यालय के छात्र छात्राओं के साथ कुछ भी अप्रिय घटना हो सकती है।

पानी की आपूर्ति ना हो पाने के कारण जनता को कई समस्याओं जैसे पीने का पानी ,घरेलू उपयोग के लिए पानी आदि का सामना करना पड़ता है। उन्होंने शिक्षा पद्धति के बारे में कहा कि हम छत्तीसगढ़ के निवासी हैं और छत्तीसगढ़ी ही हमारी भाषा है। बावजूद इसके स्कूलों तथा दफ्तरों में अंग्रेजी तथा हिंदी में सभी कार्य किए जाते हैं। उन्होंने छत्तीसगढ़ी भाषा को कार्यालयीन प्रयोग करने की अपील की ।

स्वास्थ्य व्यवस्था को लेकर उन्होंने यह बात कही कि अस्पतालों में जितने भी कर्मचारी आवंटित है ।उनमें से कुछ ही कर्मचारी अपने स्थानों पर कार्यरत हैं। बाकी सभी कर्मचारी सिर्फ कागजों में है।

उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य व्यवस्था पूरी तरफ से शून्य है। उन्होंने छत्तीसगढ़ में बेरोजगारी को लेकर यह बात कही कि यहां पर सही वक्त पर कर्मचारियों को वेतन नहीं मिल पाता है ।दूसरे राज्यों की अपेक्षा यहां कर्मचारियों का वेतन कहीं कम है ।इसी कारण से लोग यहां से पलायन करते हैं ।जाति समीकरण के मुद्दे पर उन्होंने कहा कि मैं जाति समीकरण को दूर रखूंगा तथा सभी को साथ लेकर चलूंगा ।

सभी युवाओं को पूर्ण सहयोग के साथ अपने साथ लेकर चलूंगा । छत्तीसगढ़ के विकास के बारे में उन्होंने चर्चा करते हुए यह बात कही कि सबसे पहले हमारे राज्य में छत्तीसगढ़ी भाषा को प्राथमिकता दी जाए तथा जो रिक्त पदों पर अन्य राज्यों के लोगों को भर्ती दिया जाता है । वह सिर्फ छत्तीसगढ़ के निवासियों के लिए ही आरक्षित कर दिया जाए ।

Tags
advt